SeePositive Logo SUBSCRIBE
Follow us: hello@seepositive.in

BUSINESS

CARS और BIKES की दुनिया में ये 10 नए इनोवेशंस आपके होश उड़ा देंगे

by admin




दलते वक्त और नई तकनीक के उपयोग से cars की दुनिया में क्रांतिकारी बदलाव देखने को मिल रहे हैं। अब गाड़ियाँ autopilot की मदद से खुद ही चलने लगी हैं, इन्हें किसी ड्राइवर की ज़रूरत नहीं। इसके अलावा आपकी सुरक्षा और आराम के लिहाज़ से भी इन्हें और उन्नत बनाया जा रहा है। आइए जानते हैं 2020 के ऐसे ही Top 10 automobile features के बारे में जो आपके होश उड़ा देंगे।

1. Mercedes-Benz Vision AVTR - Cars की दुनिया की जलपरी

Avatar के थीम पर बनी ये कार आपको दीवाना बना देगी। Mercedes-Benz ने अपनी इस ख़ूबसूरत कांसेप्ट कार CES 2020 में पेश किया था। इस कार की सुंदरता देख सभी लोग आश्चर्यचकित रह गए थे। यह अजूबा सिर्फ दिखने में ही ख़ूबसूरत नहीं है, बल्कि इसमें कुछ ऐसे फीचर्स दिए गए हैं जो भविष्य में आपके सफर को और अधिक आरामदायक बना देंगे। Mercedes-Benz Vision AVTR में लगे सेंसर्स आपके पल्स का पता लगा सकते हैं। इतना ही नहीं, ये सेंसर्स आपकी साँस लेने की प्रक्रिया को भी ट्रैक करेंगे। इस कार की सबसे ख़ास बात यह है की इसमें स्टीयरिंग व्हील नहीं है। यह आपके हथेली पर कंट्रोल्स दिखाएगा जिससे आप अपनी car को चला सकेंगे।

https://www.youtube.com/watch?time_continue=4&v=l5ZK0S8Q7JU&feature=emb_logo
Mercedes-Benz

इस कार के टायर भी काफी उन्नत तकनीक से डिज़ाइन किये गए हैं। इनपर भी लाइट्स लगी हुई है और ये टायर्स ही आपके इंडीकेटर्स का भी काम कर देंगे। Mercedes - Benz की इस इलेक्ट्रिक कार में पीछे की ओर इंटीग्रेटेड सोलर पैनल्स लगाए गए हैं। ये bionic flaps गाड़ी की बिजली आपूर्ति को तो पूरा करते ही हैं, साथ ही ये ब्रेक लाइट्स का भी काम करते हैं। हालांकि इस कांसेप्ट कार को बाजार में आने में अभी वक्त है , पर इसके कई फीचर्स आपको जल्द ही दूसरी कारों में भी देखने को मिलेंगे ।

2. Sony Vision-S Concept Car

https://www.youtube.com/watch?time_continue=18&v=j1RAdaSFWkM&feature=emb_logo
Credits : Sony

क्या आपने Sony को कभी cars बनाते हुए सुना या देखा है? कुछ ऐसी ही हैरानी दर्शकों को भी हुई जब Sony ने अपनी Vision-S concept Car को दर्शकों के सामने पेश किया। हालांकि Sony का इस कांसेप्ट कार को बाजार में उतारने का फिलहाल कोई इरादा नहीं है। लेकिन यह कनेक्टेड कार बाजार में उतरते ही तहलका मचा देगी। इस कार में 33 सेंसर्स car के अंदर और बाहर लगे हुए हैं। और इसके इंफोटेनमेंट सिस्टम की तो बात ही निराली है। आप खुद ही देख लीजिए।

इसके डैशबोर्ड पर 6 स्क्रीन्स लगी हैं जो आपके कार के भीतर के अनुभव को चार चाँद लगा देगा। इसके अलावा इसमें मूवी और गेम्स के मज़े को और शानदार बनाने के लिए Sony का 360 Reality Audio system भी लगा हुआ है।

3. Tali smart motorcycle helmet: Iron Man वाला हेलमेट

Tali का यह आधुनिक smart motorcycle helmet आपकी bike safety के स्तर को और ऊपर ले जायेगा। Tali Connected की ओर से आने वाले इस हेलमेट में features की भरमार है। इसमें बिल्ट-इन इंडीकेटर्स और टेल लाइट्स लगी हुई हैं जो bike चलाने वालों की सुरक्षा के लिहाज़ से बेहद महत्वपूर्ण सुविधा है।

Tali smart motorcycle helmet
Tali smart motorcycle helmet

इसके अलावा, यह smart helmet आपके मोबाइल से ब्लूटूथ के ज़रिये कनेक्ट हो जायेगा और फिर आप इससे कॉल लगा सकते हैं, म्यूजिक सुन सकते और नेविगेशन की सुविधा का भी आनंद उठा सकते हैं। यहाँ तक कि अगर आपका एक्सीडेंट हो जाता है तो यह इमरजेंसी सर्विस को मैसेज के द्वारा आगाह भी कर देगा। है ना Iron Man वाला हेलमेट?

4. Cheap Lidar Technology

Cheap Lidar Technology
Lidar

लगभग सभी वाहन निर्माता और उद्योग विशेषज्ञ इस बात से सहमत हैं कि Lidar हमारे सेल्फ ड्राइविंग भविष्य की आधारशिला है। लेजर रडार अन्य सेंसर के साथ में काम करेगा, जिसमें कैमरे, अल्ट्रासोनिक और लंबी दूरी के रडार शामिल हैं जो भविष्य की कारों और ट्रकों के आँखें और कान बनेंगे। लेकिन इसके लिए Lidar की तकनीक को सस्ता बनाना होगा जिससे इसे केवल हाई-एन्ड कारों में नहीं बल्कि सभी गाड़ियों में लगाया जा सके। Velodyne नामक कंपनी ने इसका तोड़ निकाल लिया है।

Velodyne ने CES में अपना Velabit lidar पेश किया है, और न केवल यह छोटा है, बल्कि इसकी प्रति सेंसर की लागत केवल $100 है। इससे self-driving cars का सपना अब कम कीमतों में भी पूरा हो सकेगा।

5. Solar-powered cars

सोलर पैनल्स को किसी car की छत पर लगा कर सूर्य ऊर्जा को एकत्रित करने के आईडिया पर काफी समय से विचार चल रहा है। लेकिन अभी तक इसे ज़मीनी स्तर पर बहुत कम आज़माया गया है। आपको Toyota की Prius या Karma की Revero में ये फीचर मिल तो जायेगा, लेकिन इनका आउटपुट बहुत ही कम होगा। हालांकि कम लागत में नई तकनीकों का विकास होने से जल्द ही ये बाधा दूर हो सकती है।

https://www.youtube.com/watch?v=xfkSLiI5V0s
Credits : AutoShow

इसका मतलब यह नहीं कि आपकी अगली कार पूरी तरह से सूर्य की शक्ति पर निर्भर हो जाएगी। इसमें अभी वक्त है। लेकिन सौर ऊर्जा नए वाहनों के लिए एक वैकल्पिक ऊर्जा स्रोत के रूप में तेज़ी उभर रही है। और यह विकास सिर्फ महंगी कारों पर नहीं केंद्रित नहीं है। Hyundai जल्द ही अपनी नई Sonata में इस तकनीक को पेश करेगी। Hyundai का दावा है कि इसका नया रूफ Sonata Hybrid Model में उपलब्ध होगा और यह प्रति वर्ष लगभग 800 मील अतिरिक्त रेंज प्रदान करने के लिए पर्याप्त ऊर्जा उत्पन्न कर सकेगा। यह सौर ऊर्जा के सार्थक उपयोग में एक महत्वपूर्ण कदम है।

6. Car में बैठे ही कर सकेंगे तेल, टोल और खाने का भुगतान

ऊपर दिए गए कुछ फीचर्स भविष्य के गर्भ से निकल कर कब आपके सामने आएँगे यह तो वक्त ही बताएगा। लेकिन आपकी अभी की ज़रूरतों को ध्यान में रखते हुए Visa और SiriusXM एक बेहतरीन सुविधा लाने जा रहे है जिसके इस्तेमाल से आप अपनी car के इंफोटेनमेंट सिस्टम या वॉइस कमांड के द्वारा पार्किंग, टोल, पेट्रोल या खाने का आर्डर और बिल भुगतान दोनों कर पाएंगे, वो भी अपनी ड्राइविंग सीट पर बैठे हुए।

General Motors और अन्य ऐसी cars में आप अपनी सुबह की कॉफी ऑर्डर कर सकते हैं, लेकिन कुछ कार्यों में सीधे अपने फोन के साथ इंटरैक्ट करने की भी आवश्यकता होती है, जिससे वे कम सुविधाजनक हो जाते हैं। GM के मामले में, यह भी ज़रूरी है कि आपका वाहन General Motors कंपनी का ही हो।

लेकिन SiriusXM / Visa की तकनीक के साथ, आपकी Car में केवल 4 जी-LTE डेटा कनेक्शन और SiriusXM की कनेक्टेड सेवाएं होनी चाहिए। इसका अधिकतम लाभ उठाने के लिए, दोनों कंपनियां भाग लेने वाले विक्रेताओं और सेवाओं को साइन अप करवाने के लिए काम कर रही हैं ताकि यह सुनिश्चित किया जा सके कि आपका पेट्रोल पंप और सबसे अधिक इस्तेमाल की जाने वाली टोल रोड आपके मोबाइल भुगतान को स्वीकार करने के लिए तैयार हो। इसमें कुछ समय लगने की संभावना है, खासकर यदि आप प्रमुख महानगरीय क्षेत्रों से बाहर रहते हैं। लेकिन इस प्रयास से आपकी दिनचर्या और आरामदायक ज़रूर बन जाएगी।

7. Bosch Virtual Visor

Virtual Visor ने बहुत आसान तकनीक का इस्तेमाल करके सदियों पुरानी समस्या का हल ढूंढ निकाला है। यह पुराने sun visor के मुकाबले आपकी दृश्यता को 90% तक बढ़ा सकता है। इसमें एक पारदर्शी LCD visor का इस्तेमाल किया जायेगा जो बहुत ही सटीक तरीके से केवल उस हिस्से को ब्लैक-आउट करेगा जहाँ से सूर्य की किरणे आपकी आँखों पर पड़ रही हैं।

इस पूरी प्रक्रिया में एक पावरफुल सॉफ्टवेयर और एक साधारण, ड्राइवर-फेसिंग कैमरा को इस्तेमाल में लाया जायेगा। इससे सूर्य की रौशनी के आँखों पर पड़ने से होने वाले एक्सीडेंट के खतरों पर बहुत हद तक काबू पा लिया जायेगा।

8. Flying Cars

Hyundai और Uber आपस में मिलकर टैक्सी सेवा पर काम कर रहें हैं। पर इसमें नयी बात क्या है? आपको बता दे कि यह कोई आम टैक्सी सेवा नहीं बल्कि Air taxi होगी। यह Hyundai के Urban Air Mobility Concept का हिस्सा है जिसे Uber के आने वाले Uber Elevate प्रोग्राम के लिए डिज़ाइन किया गया है ।

इस कॉम्पैक्ट एयरक्राफ्ट में 5 लोगों के बैठने कि सुविधा होगी। इसके अलावा इसमें एक quad copter ड्रोन की तरह 4 सीधे प्रोपेलर लगाए गए हैं जिससे इसे वर्टिकल टेक-ऑफ और लैंड भी कराया जा सकेगा। हालांकि इस प्रोजेक्ट की अपनी चुनौतियाँ भी हैं। उड़ने वाली car बनाने के साथ ही लैंडिंग के लिए "हब" बनाना होगा, जो एक लम्बी प्रक्रिया है। और इसे आकार लेने में अभी समय लगेगा। लेकिन flying cars के आ जाने से यात्रा का स्वरुप ही बदल जायेगा। इससे हमें लम्बे ट्रैफिक जाम में घंटो फँसे रहने की समस्या से निजात भी मिल जाएगी।

9. Vehicle-to-Vehicle Communication

Vehicle-to-Vehicle Communication या V2V ऑटोमोबाइल के क्षेत्र में एक और नया इनोवेशन है जो वाहनों को एक-दूसरे से, उनके आसपास की चीजों से और सड़क पर बात करने में सक्षम बनाता है।

सेल्फ-ड्राइविंग कारों की तरह, यह नवाचार अनिवार्य रूप से यातायात, वाहन दुर्घटनाओं और घातक घटनाओं को कम करने में मदद कर सकता है। वी 2 वी इनोवेशन के साथ, आपके वाहन को सीधे आपके मार्ग में अन्य वाहनों से संकेत मिलेगा। इस तरह आपको संभावित क्रैश की जानकारी भविष्यवाणी के माध्यम से पहले ही मिल जाएगी या आपकी गाड़ी अपने आप ही ब्रेक लगा देगी।

10. Cars-as-a-Service (CaaS)

Cars-as-a-service (CaaS) एक आगामी कार रेंटल सर्विस है जिससे शहर के कार धारक राइड शेयरिंग सर्विस में शामिल हो सकते हैं। इससे कोई भी व्यक्ति जिसके पास एक स्मार्ट डिवाइस है ,वह एक ऐप के ज़रिये इन driverless कारों को अपनी ज़रूरतों के हिसाब से बुक कर पायेगा। इस उन्नत तकनीक की सबसे ख़ास बात यह है कि इन ड्राइवर-लेस कारों के इस्तेमाल के लिए आपको किसी लाइसेंस कि ज़रूरत नहीं पड़ेगी।

IHS Automotive के अनुमान के हिसाब से यह से 2025 तक शुरू हो सकती हैं। इस तकनीक से इस क्षेत्र में आने वाली लागत को कम किया जा सकेगा, वहीं दूसरी ओर इसे मानव चालाक के विकल्प के तौर पर भी इस्तेमाल किया जायेगा।

ऑटोमोबाइल के क्षेत्र में नए बदलाव तेज़ी से हो रहे हैं। लेकिन उससे भी ज़्यादा ख़ास बात यह है कि कम्पनियाँ अब नए इनोवेशंस के साथ ही लागत कम करने की ओर ध्यान दे रहीं हैं। ऐसे में आने वाला समय ऑटोमोबाइल सेक्टर के लिए रोमांच से भरा होगा। यह देखना भी दिलचस्प होगा कि ऊपर दिए फीचर्स में से कोनसे आपकी गाड़ी में जल्द देखने को मिलेंगे।

Also Read : Telemedicine से अब हर गाँव तक पहुँचेगी स्वास्थ्य सुविधाएँ


Comments


No Comments to show, be the first one to comment!


Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *